Report Exclusive, Corona Update: Latest News, Photos, and Videos on India corona update, Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News, हिन्दी समाचार -India प्रत्येक ग्राम पंचायत के एक परंपरागत जल स्त्रोत का हो जीर्णाेद्धार, वर्षा से पूर्व पौधारोपण की करें तैयारी - Report Exclusive expr:class='data:blog.pageType'>

Report Exclusive - हर खबर में कुछ खास

Breaking

Saturday, 11 June 2022

प्रत्येक ग्राम पंचायत के एक परंपरागत जल स्त्रोत का हो जीर्णाेद्धार, वर्षा से पूर्व पौधारोपण की करें तैयारी

 प्रत्येक ग्राम पंचायत के एक परंपरागत जल स्त्रोत का हो जीर्णाेद्धार, वर्षा से पूर्व पौधारोपण की करें तैयारी


-संभागीय आयुक्त ने वीडियो कांफ्रेंस से दिए निर्देश
श्रीगंगानगर, । संभागीय आयुक्त डॉ0 नीरज के. पवन ने कहा कि संभाग की प्रत्येक ग्राम पंचायत में कम से कम एक-एक परंपरागत जल स्त्रोत का चयन करते हुए इसका जीर्णाेद्धार किया जाए।
 संभागीय आयुक्त शनिवार को आयोजित संभाग स्तरीय वीडियो कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। इस वी.सी. से संभाग के ग्राम पंचायत स्तर के जनप्रतिनिधि और सरकारी कार्मिक जुड़े। संभागीय आयुक्त ने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत एक जोहड़, तालाब या नाडी का जीर्णाेद्धार करवाए तथा इनमें मनरेगा के माध्यम से पौधारोपण करवाया जाए। उन्होंने कहा कि अधिकतम बरसाती जल को संरक्षित करने के प्रयास किए जाएं।
 संभागीय आयुक्त ने कहा कि संभाग के सभी जिलों में वर्षा से पूर्व पौधारोपण की तैयारी कर ली जाए। मुख्य मार्ग से जुड़ी ग्राम पंचायतों के दोनों ओर एक-एक, आईएलआर और पंचायत समिति मुख्यालयों के तीन-तीन, उपखंड मुख्यालयों के पांच-पांच, तीनों जिला मुख्यालयों के सात-सात तथा संभाग मुख्यालय की प्रमुख प्रवेश सड़कों के दस-दस किलोमीटर क्षेत्र में नीम के पौधे लगाए जाएंगे। इस कार्य में जनप्रतिनिधियों, स्वयं सेवी संस्थाओं और आमजन का सहयोग लिया जाए।
 संभागीय आयुक्त ने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में बेटी के जन्म पर कम से कम पांच पौधे लगाने की परंपरा शुरू हो। घर घर औषधि योजना के पौधों का प्रभावी वितरण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने प्रत्येक ग्राम पंचायत और उपखंड मुख्यालय की प्रमुख सड़क को अतिक्रमण मुक्त बनाने के निर्देश दिए। संभाग में नशा मुक्ति के लिए चल रहे मिशन अगेंस्ट नारकोटिक सबस्टेंस एब्यूज (मनसा) के तीसरे चरण की तैयारी सुनिश्चित करने के निर्देशित किया। उन्होंने बताया कि यह चरण 4 जुलाई से प्रारंभ होगा। साथ ही निर्देश दिए कि पूरे अभियान का डॉक्यूमेंटेशन किया जाए।
 इस दौरान श्रीगंगानगर से जिला कलेक्टर श्रीमती रुक्मणि रियार सिहाग, अतिरिक्त कलेक्टर (प्रशासन) श्रीमती डॉ0 हरीतिमा, अतिरिक्त कलक्टर (सतर्कता) श्रीमती कमला अलारिया, उद्यान विभाग की सहायक निदेशक श्रीमती प्रीति बाला गर्ग आदि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े रहे।

No comments:

Post a Comment

इस खबर को लेकर अपनी क्या प्रतिक्रिया हैं खुल कर लिखे ताकि पाठको को कुछ संदेश जाए । कृपया अपने शब्दों की गरिमा भी बनाये रखे ।

कमेंट करे